Friday, 2 June 2017

भ्रष्टाचार पर हो हल्ला मचाने वाली नवजोत सिद्धू अब रेत की बोली में हुए भ्रष्टाचार पर क्यों है खामोश : गोशा

लुधियाना, 02 जून 2017 (नील कमल सोनू): यूथ अकाली दल अध्यक्ष गुरदीप सिंह गोशा ने गठबंधन सरकार के शासनकाल में भाजपा कोटे से बतौर संसदीय सचिव कार्यरत रहते समय नवजोत कौर सिद्धू की तरफ से सता में भागीदार होने के बावजूद अपनी ही सरकार के हर छोटे बड़े फैसले पर छींटाकशी कर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाली सिद्धू की रेत खड्डो की नीलामी में हुए भ्रष्टाचार पर खामोशी का संज्ञान लेते हुए कहा कि की शायद उन्हें रेत घोटाले की भनक नहीं लगी। लगता है सता परिवर्तन के बाद उन्हें पंजाब में राम राज्य जैसा आभास होने लगा है।

गोशा ने नवजोत कौर से सवाल किया कि सता में रहते हुए वह पांच वर्ष तक हर छोटी सी बात का बंतगढ़ बनाकर अपनी ही सरकार को कटघरे में खड़ा कर अखबारों की सुर्खियां बनने के प्रयत्न करती रही। अब राज्य में सतासीन कांग्रेस सरकार के एक कैबनिट मंत्री की तरफ से अपने रसोइये के माध्यम से करोड़ों रुपये जमा करवा कर अप्रत्यक्ष रुप से हासिल की गई रेत खड्डों पर खामोशी क्यों धारण किए हुए हैं? क्या अब कांग्रेस की तरफ से किया गया भ्रष्टाचार भ्रष्टाचार नहीं है। अगर भ्रष्टाचार है तो श्रीमती सिद्धू खामोशी क्यों धारण किए हुए है। वह जनता के बीच जाकर इस भ्रष्टाचार पर खुद की खामोशी का कारण क्यों नहीं बताती।

इस अवसर पर जसबीर सिंह दुआ, जगजीत सिंह हैप्पी, बलविन्द्र सिंह खालसा, वरिन्द्र सिंह चावला, मनिन्द्र सिंह, संजीव कुमार, सर्वजीत सिंह, सुरजीत सिंह, विक्रम सिंह व सुरेश कुमार सहित अन्य भी उपस्थित थे।
Share This Article with your Friends

0 comments: